🌿🌿फिटकरी के गुण और उससे होने वाले आयुर्वेदिक इलाज..🌿🌿

फिटकरी के गुण…

घरेलू आयुर्वेदिक उपचार💊💉*

●▬▬▬▬▬▬♧ॐ♧▬▬▬▬▬▬●

🌿🌿फिटकरी के गुण और उससे होने वाले आयुर्वेदिक इलाज..🌿🌿

●▬▬▬▬▬▬♧ॐ♧▬▬▬▬▬▬●

परिचय

फिटकरी लाल व सफेद दो प्रकार की होती है। दोनों के गुण लगभग समान ही होते हैं। सफेद फिटकरी का ही अधिकतर प्रयोग किया जाता है। यह संकोचक अर्थात सिकुड़न पैदा करने वाली होती है। शरीर की त्वचा, नाक, आंखे, मूत्रांग और मलद्वार पर इसका स्थानिक (बाहृय) प्रयोग किया जाता है। रक्तस्राव (खून बहना), दस्त, कुकरखांसी तथा दमा में इसके आंतरिक सेवन से लाभ मिलता है।
दाढ़ी बनाने, बाल काटने के बाद फिटकरी रगडे़ या पानी में गीला कर दाढ़ी पर लगायें। इससे दाढ़ी की त्वचा सुन्दर और स्वस्थ होती है। जहां पर चींटिया व दीमक हो वहां पर सरसों का तेल लगाकर फिटकरी को डालने से चींटियां व दीमक वहां नहीं आती है।

विभिन्न रोगों में उपचार

जननांगों की खुजली:
फिटकरी को गर्म पानी में मिलाकर जननांगों को धोने से जननांगों की खुजली में…

View original post 2,143 more words